स्टार्टअप शुरू करें युवा, सरकार का मिलेगा पूरा सहयोग : मुख्यमंत्री

  • एमएनआईटी में राजस्थान इनोवेशन एण्ड स्टार्टअप एक्सपो
  • चैलेंज फॉर चैंज के तहत एक करोड़ रुपए तक के कार्यादेश युवाओं को बिना किसी टेंडर के : मुख्य सचिव
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार स्टार्टअप की दिशा में आगे बढ़ रहे युवाओं को प्रोत्साहन देने में कोई कमी नहीं रखेगी। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे सूचना प्रौद्योगिकी एवं आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए स्टार्टअप शुरू करें, राज्य सरकार उन्हें पूरा सहयोग करेगी। गहलोत गुरुवार को मालवीय नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में राजस्थान इनोवेशन एण्ड स्टार्टअप एक्सपो का अवलोकन कर समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि युवाओं के इस कार्यक्रम में आकर एक अलग तरह का उत्साह देखने को मिला है। यह उत्साह देश के भविष्य निर्माण में अहम भूमिका अदा करेगा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी को युवा शक्ति पर पूरा विश्वास था। उन्होंने ही युवाओं को भागीदारी देने के उद्देश्य से मतदान की उम्र 21 से घटाकर 18 वर्ष करने का ऎतिहासिक फैसला लिया था। देश को 21वीं सदी में ले जाने का जो सपना उन्होंने देखा था, सूचना क्रांति उसी का परिणाम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आमजन से किये वादे पूरा करने का हरसम्भव प्रयास कर रही है। इस दिशा में युवाओं और उद्यमियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने कई नीतियां और योजनाएं प्रारम्भ की हैं। उन्होंंने एक्सपो में प्रदर्शित युवाओं के स्टार्टअप इनोवेशन की सराहना की और कहा कि अधिक से अधिक युवा इस क्षेत्र में आगे आएं।
स्टार्टअप पॉलिसी से युवाओं को मिलेगा प्रोत्साहन
तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने युवाओं को आगे बढ़ाने की दिशा में कई कदम उठाए हैं। राजस्थान औद्योगिक विकास नीति हो या नई स्टार्टअप पॉलिसी राज्य सरकार ने युवाओं को सम्बल प्रदान करने के लिए इनमें कई प्रावधान किए हैं।
आई स्टार्ट राजस्थान में 1500 से अधिक स्टार्टअप नामांकित 
मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता ने कहा कि युवा उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए  सरकार ने नवाचार के रूप में आई स्टार्ट राजस्थान शुरू किया है, जिसमें अब तक 1500 से अधिक स्टार्टअप नामांकित हो चुके हैं। इसके अलावा चैलेंज फॉर चैंज के तहत युवाओं को राज्य सरकार के साथ काम करने के अवसर प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसमें एक करोड़ रूपये तक के कार्यादेश युवाओं को बिना किसी टेंडर प्रक्रिया के प्रदान किए जा सकेंगे। इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत में अतिथियों का स्वागत करते हुए एमएनआईटी के निदेशक उदय कुमार ने कहा कि एमएनआईटी एवं राज्य सरकार कई क्षेत्रों में मिलकर काम कर सकते हैं। उन्होंने एमएनआईटी की ओर से उच्चस्तरीय तकनीकी सहयोग प्रदान करने का भरोसा दिलाया।
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ममता भूपेश, वन राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई, उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, विधायक अमीन कागजी एवं रफीक खान, प्रमुख शासन सचिव आईटी अभय कुमार सहित अन्य अधिकारी एवं बड़ी संख्या में युवा मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *