जयपुर के कपल अनीता और कपिल वर्मा को मोदी केयर ने भेंट की लग्जरी गाड़ी “वोल्वो वी 90”

जयपुर। नेटवर्क कंपनी मोदी केयर के मैनेजिंग डायरेक्टर और प्रसिद्ध बिजनेसमैन समीर मोदी बुधवार को कंपनी के कार्यक्रम में शामिल होने जयपुर आए। इस अवसर पर उन्होंने मोदी केयर से जुड़े कपिल वर्मा और उनकी पत्नी अनीता वर्मा को ‘वोल्वो वी 90’ भेंट की। जिसकी एक्स शोरूम कीमत 60 लाख रुपए है। कार्यक्रम में मोदी केयर के नेटवर्क से जुड़े कई डिस्ट्रीब्यूटर और मेंबर शामिल हुए। जब कपिल वर्मा और अनिता वर्मा को समीर मोदी के हाथों कार की चाबी भेंट की गई तो पूरा कार्यक्रम स्थल तालियों की गडगड़़ाहट से गूंज उठा। समारोह को संबोधित करते हुए समीर मोदी ने कहा कि लग्जरी लाइफ को जीना अब सपना नहीं रह गया है। लोग हमारे नेटवर्क से जुड़ रहे हैं और अपने सपनों को पूरा कर रहे हैं। कंपनी से जुड़े ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने अपनी शुरुआत ग्राउंड से की थी, लेकिन अपनी मेहनत के बल पर वह टॉप पर पहुंच रहे हैं। इसका एक बड़ा उदाहरण कपिल वर्मा और अनीता वर्मा जैसा कपल है। कंपनी की तरफ से इन्हें यह तीसरी लग्जरी कार भेंट की गई है। इस अवसर पर कार प्राप्त करने वाले कपिल वर्मा और अनीता वर्मा ने कहा कि हमारा उद्देश्य सिर्फ अपनी लाइफ को ही सिक्योर और लग्जरी बनाना नहीं है बल्कि समाज में ऐसे जोड़ों और परिवारों को भी अपनी जिंदगी खुलकर जीने का संदेश ओर प्रेरणा देना है। मोदी केयर नेटवर्क से जुडऩे से पहले हमारे लिए यह बिल्कुल अजीब और रिस्क वाला फैसला था। हम लोगों को अपने साथ जोड़ते गए। विश्वास और प्यार ने इस नेटवर्क को एक परिवार के रूप में बांध दिया। महिलाओं को संदेश देेते हुए अनिता वर्मा ने कहा कि मैं एक गृहिणी हूं, लेकिन मोदी केयर ने मुझे एक प्रोफेशनल और अपने सपने पूरे करने का मौका दिया जिसे मैंने अपने पति के साथ कंधे से कंधा मिलाते हुए पूरा किया। मेरा गृहिणियों से यही कहना है कि अपने लाइफ पार्टनर के साथ आप भी अपने इस नेटवर्क के सभी चुनौतियों को पार करते हुए अपना सपना पूरा कर सकते हैं।

सक्सेस सिंबल बने कपिल और अनीता 
गृहस्थ जीवन में सामाजिक और पारिवारिक चुनौतियों के बीच निर्वाह करने वाले परिवारों के लिए कपिल वर्मा और अनिता वर्मा जैसा जोड़ा एक मिसाल है। इस जोड़े ने जीवन की हर चुनौतियों से मुकाबला करते हुए पारिवारिक जीवन के साथ साथ प्रोफेशनल लाइफ में एक साथ खड़े होकर सफलता हासिल की है। इस कामयाबी का श्रेय दोनों एक दूसरे को देते हैं।

पारिवारिक जीवन में आई कठिनाइयां
नेटवर्क इंडस्ट्री में आने से पहले इनका जीवन बहुत ही कठिन था। मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाले कपिल और अनीता ने इंटरकास्ट लव मैरिज की थी। जिसके चलते उन्हें अपने ही घर में विरोध का सामना करना पड़ा। इस कारण उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा, लेकिन कपिल और अनीता ने एक दूसरे पर भरोसा बनाए रखा और आपसी सूझबूझ व समझ से संघर्ष को जारी रखा। शादी के बाद कपिल वर्मा ने वकालत की पढ़ाई की और छोटी-छोटी जॉब करते रहे, लेकिन परेशानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही थीं। वकालत की डिग्री मिलने के बावजूद कपिल को इस क्षेत्र में सफलता हासिल नहीं हुई। कपिल ने जहां डोर टू डोर प्रोड्क्ट्स सेल किए वहीं अनीता ने भी पति के साथ अपना संघर्ष जारी रखा। अनीता ने पहले पार्लर का कोर्स किया। पार्लर चलाने की कोशिश की, फैशन डिजाइनिंग का कोर्स किया, बुटीक खोलने की कोशिश की, इंश्योरेंस की एजेंसी ली, घर में बच्चों को पालने के लिए क्रैच चलाया, पोस्ट ऑफिस की एजेंसी चलाई और जब सब तरफ से हार मिली तो भी उसने हार नहीं मानने का फैसला किया। इतने संघर्ष के बावजूद उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही थी, इसी दौरान उन्हें पुत्री सुख प्राप्त हुआ। आने वाले भविष्य की चिंता में कपिल और अनीता ने संघर्ष बनाए रखा। अपने साथ-साथ बेटी का भविष्य बनाने के लिए चुनौतियों से सामना करते रहे।

तरुण बजाज बने कपिल-अनीता की लाइफ के टर्निंग पाइंट
हर तरह से संघर्ष करके थक चुके कपिल वर्मा और अनीता वर्मा के जीवन उस वक्त जिंदगी में नया मोड़ा आया जब वर्ष 2013 में एक बार रास्ते में उनसे तरुण बजाज टकराए। इस दौरान एक दूसरे के कॉन्टेक्ट नंबर हासिल किए और अपने अपने रास्ते निकल गए। कुछ वक्त बाद तरुण बजाज ने कपिल और उनकी पत्नी अनीता को कॉल किया। कपिल और अनीता बताते हैं कि कुछ दिन बाद उनका कॉल आता है और वो मुझसे पूछते हैं क्या आप अपनी जिंदगी बदलना चाहते हैं? पहले सब सपने जैसा लगता है। कुछ दिन बाद वो वापस जयपुर आते हैं और मिलने की बात करते हैं। जब पहली बार मैं उनसे मिला तो उन्होंने मुझे बदलते हुए मार्केट ट्रेंड्स, अपग्रेड होते हुए बिजनेस कॉन्सेप्ट्स ऑर नेटवर्क इंडस्ट्री के विजन के बारे में बताया, लेकिन अजनबी इनसान और नए काम के बारे में हमें विश्वास नहीं हुआ और हम उनकी बात टालते रहे, लेकिन होनी को कुछ और मंजूर था। एक बार फिर तरुण बजाज मिले ओर हमारी उनसे बातचीत हुई। हमने उनसे पूछा क्या करना है, उन्होंने कहा वही करना है जो करते आ रहे हैं बस काम करने का तरीका बदलना है। हार्ड वर्क को स्मार्ट वर्क में बदलना है। उसके बाद हमारे नए जीवन की शुरुआत हुई और दिसंबर 2013 में हमने नेटवर्क इंडस्ट्री में तरुण जी के साथ कदम रखा। नेटवर्क इंडस्ट्री में शुरुआती दौर में लोगों ने हमारा मजाक उड़ाया, लेकिन हमने हिम्मत नहीं हारी और हम संघर्ष करते रहे। आज हमें लगभग छह साल कम्पलीट हो चुके हैं। अचीवमेंट्स की बात करें तो अभी तक इस इंडस्ट्री से तीन गाडिय़ां ले चुके हैं और अब चौथी गाड़ी ‘वॉल्वो वी 90’ लेने जा रहे हैं। कपिल कहते हैं कि यह हमारे सपनों की गाड़ी है जिसकी कीमत लगभग 78 लाख रुपए है। कपिल अब तक लगभग आठ कंट्रीज घूमकर आ चुके हैं और अगर इनकम की बात करें तो सिक्स फिगर इनकम एंजॉय कर रहे हैं जो बहुत जल्द सेवन फिगर इनकम में बदलने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *